Speeches



भावनगरगुजरात में जनसभा को सम्बोधन के दौरान मेरी प्रेस विज्ञप्ति 23 नवम्बर 2015 :

भावनगर (गुजरात),  23 नवम्बर 2015:  केंद्रीय संसदीय एवं अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री श्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने आज भरोसा जताया कि कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दल आगामी संसद के शीतकालीन सत्र में देश के विकास से जुड़े मुद्दों पर सकारात्मक रुख अपनाएंगे और यह सत्र जन सरोकार की दृष्टि से प्रगतिशील साबित होगा।  

भावनगर में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए श्री नक़वी ने कहा कि केंद्र सरकार को पूरा भरोसा है कि आने वाले संसद सत्र में कांग्रेस तथा अन्य राजनैतिक दल एक रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाते हुए देश के विकास से जुड़े विषयों पर और रिफार्म से जुड़े विधेयकों को पारित कराने में सरकार का सहयोग करेंगे। 

श्री नक़वी ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक; रियल एस्टेट (विनियमन और विकास) संशोधन विधेयक, 2013 देश की तेज गति से विकास के लिए अहम हैं। जीएसटी कर सुधार के मामले में एक ऐतिहासिक कदम है। इससे पारदर्शिता आएगी। जीएसटी केंद्र और राज्य दोनों के लिए लाभदायक होगा।

इस बिल से एकल वस्तु एवं सेवाओं का हस्तांतरण सुनिश्चित होने के साथ कई करों के बोझ को कम किया जा सकेगा, जीएसटी केंद्र एवं राज्य सरकारों द्वारा अधिग्रहित किये जा रहे अनेक अप्रत्यक्ष करों का स्थान लेगा। केवल जीएसटी से भारत की जीडीपी विकास दर में 1-2 प्रतिशत की वृद्धि होगी। जीएसटी बिल के लागू होने में देरी से देश की अर्थव्यवस्था को हजारों करोड़ का नुकसान प्रति वर्ष हो रहा है।

श्री नक़वी ने कहा कि भ्रष्टाचार निवारण (संशोधन) विधेयक, 2013 और व्हिसल ब्लोअर संरक्षण (संशोधन) विधेयक, 2015 भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में मददगार साबित होंगे। मुझे पूरा भरोसा है कि विपक्ष राजनीति से ऊपर उठ कर इन विधेयकों को पारित करने में सरकार का सहयोग करेगा।

श्री नक़वी ने कहा कि केंद्र सरकार जन कल्याण से जुड़े हर मुद्दे पर विस्तृत, सकारात्मक चर्चा के लिए तैयार है। विपक्ष भी मोदी सरकार को लोकसभा चुनाव में मिले ऐतिहासिक जनादेश का सम्मान करते हुए संसद का बहुमूल्य समय का सदुपयोग करने में सहयोग करे और देश के विकास में भागीदार बने। श्री नक़वी ने कहा कि केंद्र सरकार शीतकालीन सत्र को सफल बनाने के लिए सभी दलों से बातचीत कर रही है और आगामी 25 नवम्बर को सर्वदलीय बैठक बुलाई है जिसमे संसद के कामकाज और सदनों को सुचारू रूप से चलाने के सम्बन्ध में चर्चा होगी। 

श्री नक़वी ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एन.डी.ए की सरकार ने देश के समावेशी और सभी तबकों के संपूर्ण विकास के लिए कदम उठाये हैं। मोदी सरकार में सभी धर्मो, सभी वर्गों के सामाजिक,आर्थिक, धार्मिक अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं। अल्पसंख्यकों सहित सभी जरूरतमंदों का राजनैतिक-सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण हमारा लक्ष्य है। सभी अन्य वर्गों के साथ अल्पसंख्यक समुदाय भी तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। 

श्री नक़वी ने कहा कि एकता, सौहार्द, भाईचारा, सहिष्णुता भारत के डी.एन.ए में है और कोई भी अप्रिय घटना इस ताने-बाने को नुक्सान नहीं पहुंचा सकती। भारत में सामाजिक एकता और सौहार्द को मजबूत करने के लिए सभी को अपने राजनैतिक स्वार्थ अलग रखने होंगे।