Speeches



रांची (झारखण्ड), 01 मार्च, 2020: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा हरमू ग्राउंड, रांची (झारखण्ड) में आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" के उद्घाटन की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि भारत की शानदार स्वदेशी दस्तकारी को अंतर्राष्ट्रीय बाजार मुहैया कराने के लिए मोदी सरकार काम कर रही है।

आज हरमू ग्राउंड, हरमू चौक, रांची में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा 29 फरवरी से 08 मार्च 2020 तक आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" का उद्घाटन केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री श्री अर्जुन मुंडा एवं श्री नकवी ने किया। यह पहली बार है जब "हुनर हाट" का आयोजन झारखण्ड में किया जा रहा है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित यह 21वा "हुनर हाट" है।

केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय एवं जनजातीय कार्य मंत्रालय मिल कर देश के हुनर को वैश्विक पहचान और अंतर्राष्ट्रीय मार्किट-मौका उपलब्ध करा रहे हैं। "हुनर हाट" एक प्रभावी अभियान है जो आम नागरिक की क्षमता को देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में भागीदार बना रहा है।

श्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि "हुनर हाट" भारत की पारम्परिक ताकत और हुनर को अवसर मुहैया करा रहा है। "हुनर हाट" भारत की पारम्परिक संस्कृति, विरासत को जानने-समझने का एक बड़ा मंच साबित हुआ है।

श्री नकवी ने कहा कि "हुनर हाट" के माध्यम से जहाँ एक ओर "कौशल को काम" मिला है वहीँ दूसरी ओर भारत की कला/क्राफ्ट की विरासत को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली है।

श्री नकवी ने कहा कि 13 फरवरी से 23 फरवरी तक इंडिया गेट लॉन, राजपथ, नई दिल्ली में आयोजित "हुनर हाट" में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा भ्रमण से देश भर से आये दस्तकारों, शिल्पकारों विशेषकर महिला कारीगरों की हौसलाअफजाई हुई और उनके हुनर को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली। 23 फरवरी को प्रधानमंत्री जी ने "मन की बात" में "हुनर हाट" एवं उसमे भाग ले रहे दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों एवं उनके स्वदेशी उत्पादों की प्रशंसा कर भारत में दस्तकारी की शानदार विरासत को जानदार बनाने के संकल्प को दोहराया।

श्री नकवी ने कहा कि 19 फरवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के "हुनर हाट" में लगभग 1 घंटे के भ्रमण के बाद "हुनर हाट" आने वाले लोगों की संख्या में 60 प्रतिशत से भी अधिक की वृद्धि हुई। 11 दिनों में 17 लाख से अधिक देश-विदेश से लोगों ने आ कर "हुनर के उस्तादों" की हौसलाअफजाई की और "बावर्चीखाना" में विभिन्न राज्यों के पारम्परिक लज़ीज़ पकवानों का लुत्फ़ उठाया।

श्री नकवी ने कहा कि रांची में आयोजित "हुनर हाट" में 125 स्टॉल लगाए गए हैं जिनमे देश के हर कोने से 250 से ज्यादा दस्तकार, शिल्पकार भाग ले रहे हैं जिनमे बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हैं। ये कारीगर अपने साथ देश भर के हस्तशिल्प एवं हस्तकरघा के स्वदेशी दुर्लभ उत्पाद लाये हैं। वहीँ "बावर्चीखाना" में विभिन्न राज्यों के लजीज़ पारम्परिक पकवान अपनी सुगंध बिखेर रहे हैं। इसके अलावा रोजाना होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम इस "हुनर हाट" में आने वाले लोगों के आकर्षण का केंद्र होंगे।

श्री नकवी ने कहा कि पिछले 3 वर्षों में "हुनर हाट" के माध्यम से 3 लाख से ज्यादा दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैया कराये गए हैं, इनमे बड़ी संख्या में महिला कारीगर एवं दस्तकार शामिल हैं।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा "हुनर हाट" के दस्तकारों और उनके स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों को "जेम" (गवर्नमेंट ई मार्केटप्लेस) में रजिस्टर करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके अलावा विभिन्न निर्यात कौंसिल्स दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय मार्किट मुहैया करने हेतु रूचि दिखा रही हैं, जिससे इन दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों को बड़े पैमाने पर अंतर्राष्ट्रीय मार्किट मिल सकेगा। भारतीय पैकेजिंग संस्थान द्वारा बेहतर-आकर्षक पैकेजिंग के लिए दस्तकारों, शिल्पकारों को ट्रेनिंग मुहैया कराई जा रही है।

अगले "हुनर हाट" का आयोजन चंडीगढ़ में 13 मार्च से 22 मार्च, 2020 तक आयोजित किया जाएगा। आने वाले दिनों में "हुनर हाट" का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, पुडुचेर्री, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुबनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा। इससे पहले दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद, पुदूचेरी, इंदौर आदि स्थानों पर "हुनर हाट" आयोजित किए जा चुके हैं।

इस अवसर पर देश के अलग-अलग क्षेत्रों से आयी महिला दस्तकारों, कारीगरों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री श्री सुरेश खन्ना; रांची से सांसद श्री संजय सेठ, झारखण्ड सरकार के पूर्व मंत्री एवं रांची से विधायक श्री सी पी सिंह एवं अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।