Speeches



नई दिल्ली, 23 फरवरी, 2020: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा इंडिया गेट लॉन, राजपथ, नई दिल्ली में 13 से 23 फरवरी 2020 तक आयोजित किये गए "हुनर हाट" के समापन की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि इंडिया गेट लॉन, राजपथ, नई दिल्ली में 13 से 23 फरवरी 2020 तक आयोजित किया गया 20वा "हुनर हाट" ऐतिहासिक एवं सफल रहा जहाँ माननीय उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू जी, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला जी ने आ कर दस्तकारों/शिल्पकारों की हौसलाअफजाई की।

श्री नकवी ने आज 20वे "हुनर हाट" के समापन पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि माननीय उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू जी 20 फरवरी; प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी 19 फरवरी और लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला जी 18 फरवरी को "हुनर हाट" आये और देश के कोने-कोने से आये "हुनर के उस्तादों" से बातचीत की और उनके हुनर को सराहा।

आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने "मन की बात" में "हुनर हाट" एवं उसमे भाग ले रहे दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों एवं उनके स्वदेशी उत्पादों की प्रशंसा कर भारत में दस्तकारी की शानदार विरासत को जानदार बनाने के संकल्प को दोहराया है।

श्री नकवी ने कहा कि 19 फरवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के "हुनर हाट" में औचक भ्रमण से दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों के हुनर को पूरे विश्व में एक नई पहचान मिली है। प्रधानमंत्री जी ने "हुनर हाट" में "कुल्हड़ वाली चाय" और बिहार के स्वादिष्ट लिट्टी चोखे का आनंद भी लिया। प्रधानमंत्री जी ने लगभग 1 घंटे की अपनी गरिमामयी उपस्थिति के दौरान विभिन्न स्टाल पर जा कर स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों को देखा और उनके बारे में दस्तकारों से जानकारी ली। श्री मोदी जी के भ्रमण के बाद "हुनर हाट" आने वाले लोगों की संख्या में 60 प्रतिशत से भी अधिक की वृद्धि हुई। इन 11 दिनों में 15 लाख से अधिक देश-विदेश से लोगों ने आ कर "हुनर के उस्तादों" की हौसलाअफजाई की और "बावर्चीखाना" में विभिन्न राज्यों के पारम्परिक लज़ीज़ पकवानों का लुत्फ़ उठाया।

इसके अलावा अनु कपूर, सुरेंद्र शर्मा, मंज़र भोपाली, प्रवीण शुक्ला, निखत अमरोही, शम्भू शिखर, दिलबाग सिंह, भूपिंदर सिंह भुप्पी, सिंपल सिस्टर्स, मुकेश पंचोली जैसे जाने-माने कलाकारों, गायकों, कवियों ने "हुनर हाट" में आने वाले लाखों लोगों को प्रतिदिन विभिन्न पारम्परिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों से मंत्र-मुग्ध किया।

इंडिया गेट लॉन में आयोजित इस "हुनर हाट" का उद्घाटन केंद्रीय रेल एवं वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पियूष गोयल; शहरी विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी एवं भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् के अध्यक्ष डॉ विनय सहस्रबुद्धे ने 13 फरवरी को किया था।

श्री नकवी ने कहा कि "कौशल को काम" थीम पर आधारित इस "हुनर हाट" में केंद्रीय मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद; श्रीमती स्मृति ईरानी; श्री महेंद्र नाथ पांडे; डा. जीतेन्द्र सिंह; सांसद; वरिष्ठ अधिकारी; विभिन्न देशों के वरिष्ठ राजनयिक एवं देश-विदेश के गणमान्य भी पहुंचे और उन्होंने देश भर से यहाँ आये दस्तकारों, शिल्पकारों के दुर्लभ स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों की भूरी-भूरी प्रशंसा की।

इस "हुनर हाट" में देश के हर कोने से 250 से अधिक दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों ने भाग लिया जिनमे पहली बार 50 प्रतिशत से अधिक महिला दस्तकार शामिल हुई।

श्री नकवी ने कि इंडिया गेट लॉन में आयोजित "हुनर हाट" देश भर के दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों के "स्वदेशी विरासत के सशक्तिकरण" एवं उनके आर्थिक सशक्तिकरण का "मेगा मिशन" साबित हुआ। दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी-हस्तनिर्मित उत्पादों की ना केवल करोड़ों रूपए की बिक्री हुई बल्कि उन्हें देश-विदेश से बड़े पैमाने पर आर्डर भी मिले हैं। अल्पसंख्यक मंत्रालय "हुनर हाट" के दस्तकारों और उनके स्वदेशी हस्तनिर्मित उत्पादों को "जेम" (गवर्नमेंट ई मार्केटप्लेस) में रजिस्टर कराएगा। इसके अलावा विभिन्न निर्यात कौंसिल्स से बातचीत चल रही है जिससे इन दस्तकारों, शिल्पकारों के स्वदेशी उत्पादों को बड़े पैमाने पर राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय मार्किट मिलेगा।

अगले "हुनर हाट" का आयोजन रांची में 29 फरवरी से 8 मार्च, 2020, चंडीगढ़ में 13 मार्च से 22 मार्च, 2020 तक आयोजित किया जाएगा। आने वाले दिनों में "हुनर हाट" का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, पुडुचेर्री, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुबनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा। इससे पहले दिल्ली, मुंबई, प्रयागराज, लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, हैदराबाद, पुदूचेरी, इंदौर आदि स्थानों पर "हुनर हाट" आयोजित किए जा चुके हैं।