Speeches



आज लखनऊ में भाजपा कार्यालय में नागरिकता कानून पर जन जागरण के तहत मेरी प्रेस वार्ता के मुख्य बिंदु:

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं केंद्रीय मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि नागरिकता कानून पर "हॉरर हंगामा", "हवा-हवाई" हो रहा है और लोगों के बीच कुछ राजनैतिक दलों द्वारा खड़ा किया गया "भय-भ्रम का भूत" बेनकाब हो चुका है।

नागरिकता कानून पर भाजपा के देशव्यापी जन जागरण कार्यक्रम के तहत आज लखनऊ में भाजपा कार्यालय में प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए श्री नकवी ने कहा कि कांग्रेस एवं उसके साथियों द्वारा अविश्वास और अफवाह के जरिये अमन को अगवा करने की साजिश, समाज के एकता-सौहार्द के ताने-बाने को नुकसान पहुंचाने के मकसद से की जा रही है।

श्री नकवी ने कहा कि "पोलिटिकल पाखंड से प्रभावित प्रदर्शनों” के जरिये देश के सौहार्द-एकता को छिन्न-भिन्न करने का प्रयास परास्त होगा। कांग्रेस और उसके साथी "झूठमेव जयते" का झंडा बुलंद कर लोगों को भटकाने-भरमाने की कोशिश कर रहे हैं। नागरिकता बिल को केंद्र बिंदु बनाकर "हॉरर हंगामा” हो रहा है जबकि नागरिकता कानून नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं।

श्री नकवी ने कहा कि यह बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि कांग्रेस और उसके साथी जो जनता द्वारा जनतंत्र में नकार दिए गए हैं वे लोग छात्रों, युवाओं को अपने संकीर्ण राजनैतिक स्वार्थों के लिए अपनी ढाल बना रहे हैं। छात्रों-नौजवानों को चाहिए कि वे कांग्रेस और उसके साथियों द्वारा खड़ा किये गए "भ्रम-भय के भूत" से प्रभावित ना हों, और देश के एकता-सौहार्द के ताने-बाने को मजबूत करने में भागीदारी-हिस्सेदारी करें।

श्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं गृह मंत्री श्री अमित शाह ने हर मंच से देश को यह आश्वस्त किया है कि सभी भारतीयों के नागरिक, सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं। किसी भी भारतीय नागरिक के अधिकारों पर कोई खतरा न था, न है और न होगा।

श्री नकवी ने कहा कि भारत के मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से ज्यादा महफूज और मजबूत जगह कहीं नहीं है जहाँ उसके नागरिक, सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार पूरी तरह पत्थर की लकीर की तरह पुख्ता हैं।

श्री नकवी ने कहा कि सिटीजनशिप अमेंडमेंट कानून- पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान- में धार्मिक भेदभाव एवं उत्पीड़न से प्रताड़ित-पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का कानून है। वह भी यदि वो लोग चाहेंगे तब। सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट “किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए है।"

श्री नकवी ने कहा कि कांग्रेस एवं उसके साथी दलों द्वारा नागरिकता कानून पर चलाया जा रहा "फेक फैब्रिकेटेड फ़साना" बेनकाब हो रहा है। नागरिकता बिल पर कांग्रेस और उसके साथियों की "बकवास ब्रिगेड के बोगस बैशिंग बाजार" पर ताला लगना शुरू हो गया है।