Speeches



20 से 31 दिसंबर, 2019 तक मुंबई के बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स में आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" के उद्घाटन की प्रेस विज्ञप्ति:

महाराष्ट्र के माननीय राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी एवं केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज मुंबई के एमएमआरडीए ग्राउंड, बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स में अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा 20 से 31 दिसंबर 2019 तक आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" का उद्घाटन किया।

माननीय राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी जी ने कहा कि "हुनर हाट", देश के कोने-कोने की छुपी हुई कारीगरी, शिल्पकारी, दस्तकारी को मौका देने, उसे पूरी दुनिया के सामने लाने का एक महत्वपूर्ण प्लेटफार्म है। "हुनर हाट" हमारे देश के हुनरमंद कारीगरों, दस्तकारों को बढ़ावा दे रहा है। देश के कारीगरों के हुनर को सलाम।

श्री कोश्यारी जी ने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के "हुनर हाट" जैसे कार्यक्रमों से देश के जरूरतमंद कारीगरों, शिल्पकारों को मौका देने से भारत की अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिल रही है। श्री कोश्यारी जी ने "हुनर हाट" में लगाए गए स्टाल का भ्रमण किया और महिला दस्तकारों सहित हर राज्य से आये बड़ी संख्या में दस्तकारों, शिल्पकारों की हौसलाअफजाई भी की।

इस अवसर पर श्री नकवी ने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा देश भर में आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" भारत की स्वदेशी दस्तकारी-शिल्पकारी की लुप्त हो रही “शानदार विरासत को जानदार’ बनाने का सशक्त अभियान है।

श्री नकवी ने कहा कि जहाँ एक ओर "हुनर हाट" से "हुनर के उस्ताद" दस्तकारों, शिल्पकारों के "हुनर को हौसला" मिला है वहीँ दूसरी ओर बड़ी संख्या में महिलाओं सहित हजारों दस्तकारों, शिल्पकारों, खानसामों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर उपलब्ध हुए हैं।

श्री नकवी ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों के प्रमुख स्थानों पर आयोजित होने के कारण "हुनर हाट" में दस्तकारों, शिल्पकारों के हस्तनिर्मित दुर्लभ स्वदेशी उत्पाद, अन्य कलाकृतियों की जबरदस्त बिक्री हो रही है और इन दस्तकारों, शिल्पकारों को देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी आर्डर मिल रहे हैं। "हुनर हाट", दस्तकारों/शिल्पकारों का “एम्पावरमेंट एक्सचेंज" साबित हुए हैं।

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार-2 के पहले 100 दिनों में ही अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने देश के अलग-अलग हिस्सों में 100 "हुनर हब" स्वीकृत किये हैं। इन "हुनर हब" में दस्तकारों, शिल्पकारों, पारम्परिक खानसामों को वर्तमान जरूरतों के हिसाब से ट्रेनिंग दी जा रही है। उनके हुनर को और निखारा जा रहा है।

श्री नकवी ने कहा कि पिछले लगभग 2 वर्षों में देश के विभिन्न राज्यों में आयोजित दो दर्जन से ज्यादा "हुनर हाट" के जरिये 2 लाख 65 हजार कारीगरों, शिल्पकारों, दस्तकारों, खानसामों और उनसे जुड़े हुए लोगों को रोजगार और रोजगार के मौके मुहैया कराये हैं जिनमे बड़ी संख्या में महिला दस्तकार भी शामिल हैं। अगले 5 वर्षों में मोदी सरकार 100 से ज्यादा "हुनर हाट" के माध्यम से लाखों "हुनर के उस्ताद" कारीगरों, शिल्पकारों, दस्तकारों और पारंपरिक खानसामों को रोजगार और रोजगार के मौके मुहैया कराएगी।

श्री नकवी ने कहा कि मुंबई में आयोजित किये जा रहे "हुनर हाट" में 180 से ज्यादा स्टाल लगाए गए हैं जहाँ बड़ी संख्या में महिला दस्तकार सहित देश के हर राज्य के 400 से ज्यादा दस्तकार, शिल्पकार अपने हस्तनिर्मित दुर्लभ स्वदेशी उत्पाद एवं कलाकृतियां ले कर आये हैं।

श्री नकवी ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों के पारंपरिक एवं लज़ीज़ व्यंजन का भी यहाँ आने वाले लोग लुत्फ़ ले रहे हैं। इसके अलावा देश के प्रसिद्द कलाकारों द्वारा रोज प्रस्तुत किये जाने वाले पारम्परिक नृत्य, संगीत, लोकगीत, कव्वाली एवं अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम लोगों के आकर्षण के मुख्य केंद्र हैं। हंस राज हंस, सायरा खान, सुप्रिया जोशी, राहुल जोशी, फरहान साबरी, तरन्नुम मलिक, प्रेम भाटिया, हरजोत कौर, मिक्की सिंह नरूला, मुकेश पांचोली, गुल सक्सेना जैसे प्रसिद्द कलाकार, हास्यकलाकर, गायक आदि अपने कार्यक्रम पेश करेंगे।

अगले "हुनर हाट" का आयोजन 10 से 20 जनवरी, 2020 लखनऊ में, 11 से 19 जनवरी, 2020 तक हैदराबाद में, 20 जनवरी से 1 फरवरी, 2020 चंडीगढ़ में, 08 फरवरी से 16 फरवरी, 2020 तक इंदौर में किया जाएगा। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आने वाले दिनों में "हुनर हाट" का आयोजन नई दिल्ली, गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, पुडुचेर्री, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, रांची, भुबनेश्वर, अजमेर आदि में किया जायेगा।

इस अवसर पर महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य श्री आशीष शेलार, केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के सचिव श्री प्रमोद कुमार दास एवं अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।