Speeches



मुंबई, 31 अगस्त, 2019: आज मुंबई में भाजपा ट्रांसपोर्ट यूनियन के उद्घाटन समारोह में मेरे सम्बोधन के मुख्य अंश:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि देश की "सुरक्षा, अर्थव्यवस्था और समृद्धि", "सुरक्षित और ईमानदार हाथों में हैं।"

आज यहाँ मुंबई में भाजपा ट्रांसपोर्ट यूनियन के उद्घाटन कार्यक्रम में श्री नकवी ने कहा कि विभिन्न ऐतिहासिक सुधार और पीपल्स फ्रेंडली ईमानदार व्यवस्था, मजबूत भारत के निर्माण की गारंटी है।

श्री नकवी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने आर्थिक सुधार की दिशा में जीएसटी, नोटबंदी जैसे मजबूत ऐतिहासिक निर्णय लिए। इंफ्रास्ट्रक्चर पर व्यय मोदी सरकार की प्राथमिकता रही है।

श्री नकवी ने कहा कि भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था बनाने के लिए काम जारी है। देश में अब कुल 12 राष्ट्रीय बैंक होंगे। यूनियन बैंक आफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कारपोरेशन बैंक का मर्जर होगा। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का मर्जर होगा। केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का विलय किया जाएगा। 
श्री नकवी ने कहा कि आर्थिक भ्रष्टाचार के खिलाफ मोदी सरकार ने कड़ी कार्रवाई की है। तीन लाख फर्जी कंपनियां बंद की गई हैं।

श्री नकवी ने कहा कि हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विभिन्न क्षेत्रों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की समीक्षा के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। एफडीआई नीति में बदलाव के परिणामस्वरूप भारत ज्यादा आकर्षक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश गंतव्य बन सकेगा। इसका फायदा निवेश, रोजगार और विकास बढ़ाने में मिलेगा।

कोयला क्षेत्र में कोयले की बिक्री के लिए कोयला खनन, इससे संबंधित प्रसंस्करण यानी प्रोसेसिंग अवसंरचनाओं में स्वचालित रास्ते से 100% एफडीआई एक कुशल और प्रतिस्पर्धी कोयला बाजार के लिए अंतरराष्ट्रीय कंपनियों को आकर्षित करेगा।

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार देश की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दे कर फैसले लेती है। 370 हटाना प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री श्री अमित शाह के देश के प्रति मजबूत राष्ट्रवादी नीति का नतीजा है। यह निर्णय जम्मू, कश्मीर, लद्दाख की 370 समस्याओं का हल करेगा, क्षेत्र के विकास को सुनिश्चित करेगा।

श्री नकवी ने अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की विभिन्न विकास कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि मोदी सरकार "समावेशी विकास", "सम्मान के साथ सशक्तिकरण" के संकल्प को आगे बढ़ाते हुए अल्पसंख्यकों सहित समाज के सभी तबकों के विकास के लिए काम कर रही है। समाज के सभी वर्गों के साथ अल्पसंख्यकों का आर्थिक सशक्तिकरण एवं रोजगार परक कौशल विकास हमारी सरकार की प्राथमिकता है। अगले 5 वर्षों में लगभग 25 लाख युवाओं को रोजगार पूरक कौशल विकास मुहैया कराया जायेगा। अगले 5 वर्षों में 5 करोड़ छात्रों को विभिन्न स्कॉलरशिप्स दी जाएँगी जिनमे 50 प्रतिशत लड़कियां शामिल हैं।