Speeches



नई दिल्ली, 13 दिसंबर 2018:आज जेद्दाह में हज एवं उम्रा मंत्री सऊदी अरब, हिज़ एक्सेलेंसी डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन के साथ भारत-सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय हज 2019 समझौते पर हस्ताक्षर की प्रेस विज्ञप्ति:

आज जेद्दाह में अल्पसंख्यक कार्य मंत्री, भारत सरकार, श्री मुख्तार अब्बास नकवी एवं हिज़ एक्सेलेंसी डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन हज और उमराह मंत्री, सऊदी अरब द्वारा भारत-सऊदी अरब के बीच हज 2019 के सम्बन्ध में द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किये गए।

श्री नकवी ने कहा कि सऊदी अरब की सरकार ने भारत के हज यात्रियों की सुरक्षा-सुविधा के सम्बन्ध में हमेशा से ही सक्रीय रूचि दिखाई है जो भारत और सऊदी अरब के मजबूत रिश्तों का ही एक हिस्सा है।

श्री नकवी ने कहा कि किंग सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद एवं भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दोनों देशों के संबंधों को नई ऊंचाई मिली है। भारत-सऊदी अरब मजबूत सभ्यता, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और राजनीतिक संबंधों से एक साथ बंधे हैं।

श्री नकवी ने हज 2018 को कामयाब बनाने में महत्वपूर्ण मार्गदर्शन देने के लिए दो पवित्र मस्जिदों के सरबरा सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सऊद को धन्यवाद दिया।

श्री नकवी ने कहा कि भारत सरकार, जेद्दाह में भारतीय कांसुलेट, सऊदी अरब की सरकार एवं अन्य सम्बंधित एजेंसियां हज 2019 को सफल, सुगम बनाने के लिए सहयोग कर रहे हैं।

श्री नकवी ने कहा कि हज 2019 में भारत से बिना “मेहरम” (पुरुष रिश्तेदार) के बड़ी संख्या में मुस्लिम महिलाओं के हज यात्रा पर जाने की उम्मीद है। 2100 से ज्यादा मुस्लिम महिलाओं ने बिना मेहरम के हज पर जाने के लिए अप्लाई किया है। 2018 में पहली बार केंद्र की मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को बिना मेहरम के हज यात्रा पर जाने पर लगे प्रतिबन्ध को खत्म कर दिया था, जिसके चलते 2018 में 1300 के करीब मुस्लिम महिलाएं बिना “मेहरम” (पुरुष रिश्तेदार) हज यात्रा पर गई थी। इन्हें बिना लाटरी, हज यात्रा पर भेजा गया था। साथ ही 100 से अधिक महिला हज असिस्टेंट भी भेजी गई थी। पहली बार महिला हज असिस्टेंट, "खादिम-उल-हुज्जाज" की नियुक्ति की गई। महिला हज कोऑर्डिनेटर, हज असिस्टेंट सऊदी अरब में हाजियों की सहायता के लिए नियुक्त की गई।

श्री नकवी ने कहा कि 2 लाख 47 हजार से अधिक आवेदन हज 2019 के लिए हज कमिटी ऑफ़ इंडिया को प्राप्त हुए हैं। जिनमे लगभग 47 प्रतिशत से अधिक महिलाएं शामिल हैं। 2018 में आजादी के बाद पहली बार रिकॉर्ड 1 लाख 75 हजार 25 भारतीय मुसलमान हज के लिए गए जिनमे लगभग 48 प्रतिशत महिलाएं शामिल थी। भारत सरकार ने हज 2019 के लिए भी भारत से हज यात्रियों का कोटा बढ़ाने के लिए सऊदी अरब की सरकार से अनुरोध किया है।

श्री नकवी ने कहा कि हज प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन, डिजिटल करने से हज प्रक्रिया को पारदर्शी एवं हाजियों के लिए सुलभ बनाने में मदद मिली है। हज 2019 के लिए लगभग 1 लाख 37 हजार ऑनलाइन आवेदन प्राप्त हुए हैं।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय ने सऊदी अरब हज कांसुलेट, हज कमिटी ऑफ़ इंडिया एवं अन्य सम्बंधित एजेंसियों के साथ मिल कर हज 2018 की तैयारियां समय से दो महीने पहले ही पूरी कर ली थी, जबकि हज 2019 की प्रक्रिया तीन महीने पहले शुरू हो गयी ताकि हज 2019 सुगम-सुचारु हो सके।