Speeches



नई दिल्ली, 09 दिसंबर, 2017:आज नई दिल्ली में मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन की जनरल बॉडी एवं गवर्निंग बॉडी मीटिंग की अध्यक्षता करने के दौरान मेरे सम्बोधन की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि रोजगारपरक कौशल विकास कार्यक्रमों के तहत “जीएसटी फैसिलिटेटर” एवं “सेनेटरी सुपरवाइजर” के लघु अवधि के सर्टिफिकेट कोर्स बड़ी संख्या में अल्पसंख्यक समुदाय के नौजवानों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैया करा रहे हैं।

श्री नकवी ने आज मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन (एमएईएफ) की जनरल बॉडी एवं गवर्निंग बॉडी की मीटिंग की अध्यक्षता की। बैठक में फाउंडेशन द्वारा अल्पसंख्यकों के शैक्षिक एवं कौशल विकास के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई।

श्री नकवी ने कहा कि गरीब नवाज कौशल विकास कार्यक्रम के तहत “जीएसटी फैसिलिटेटर” के 3 माह के कोर्स से सैंकड़ों नौजवान छोटे-मझोले और बड़े व्यापारिक संस्थानों के साथ जुड़ कर उनकी मदद कर रहे हैं। इसी प्रकार सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान के तहत निर्मित लाखों शौचालयों, स्वच्छता केंद्रों, स्वास्थ्य केंद्रों में सेनेटरी सुपरवाइजर का कोर्स कर रहे लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर मिल रहे हैं साथ ही ये लोग स्वच्छता अभियान के रख-रखाव में भी बड़ी भूमिका निभा रहे हैं।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों का शैक्षिक एवं कौशल विकास का मजबूत मिशन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के अल्पसंख्यकों के "सम्मान के साथ सशक्तिकरण" के संकल्प को पूरा कर रहा है।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय अपने कुल बजट का 65 प्रतिशत से ज्यादा हिस्सा अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं के शैक्षिक सशक्तिकरण एवं कौशल विकास की योजनाओं पर खर्च कर रहा है।

श्री नकवी ने कहा कि विभिन्न स्कालरशिप की योजनाएं, प्रतियोगिता परीक्षा के लिए सहायता की योजनाएं, "बेगम हजरत महल बालिका छात्रवृति योजना" अल्पसंख्यक समुदायों के शक्षिक सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम साबित हुई हैं। पिछले 3 वर्षों में अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा 1 करोड़ 50 लाख से ज्यादा छात्रों को विभिन्न स्कालरशिप दी गई है। "बेगम हजरत महल बालिका छात्रवृति" के लिए 3 लाख से ज्यादा आवेदन आये हैं।

श्री नकवी ने कहा कि बहुक्षेत्रीय विकास कार्यक्रम के तहत अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में पिछले 3 वर्षों 4 हजार 377 स्वास्थ्य केंद्र, 37 हजार 68 आंगनवाड़ी केंद्र, 10 हजार 649 पेयजल सुविधाएँ, 32 हजार अतिरिक्त क्लास रूम, 1 हजार 817 स्कूल बिल्डिंग, 15 डिग्री कॉलेज, 169 ITI, 48 पॉलीटेक्निक, 248 सद्भाव मंडप, 1 हजार 64 हॉस्टल, 27 आवासीय स्कूल का निर्माण किया गया है। देश भर में 100 "गरीब नवाज कौशल विकास केंद्र" स्थापित किया जा रहे हैं।

श्री नकवी ने कहा कि "हुनर हाट" एवं अन्य कौशल विकास योजनाओं के माध्यम से अल्पसंख्यक समुदाय के लगभग 50 लाख लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैय्या कराये गए हैं।

बैठक में श्री नकवी ने कहा कि सभी योजनाओं को असरदार तरीके से जमीनी स्तर पर लागू किया जाना चाहिए ताकि हर जरूरतमंद तक इन सभी योजनाओं का लाभ पहुँच सके। श्री नकवी ने कहा कि सभी शैक्षिक सशक्तिकरण एवं कौशल विकास की योजनाओं की निगरानी वह स्वयं कर रहे हैं। इन योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठक में मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन के सचिव, फाउंडेशन के सदस्य एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।