Speeches



मुंबई, 05 नवम्बर, 2017:मुंबई में अल्पसंख्यकों के कौशल विकास पर आयोजित एक सेमिनार में मेरे सम्बोधन के मुख्य अंश:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि देश का समावेशी विकास, केंद्र की प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार का "राष्ट्रधर्म" और गरीबों, कमजोर तबकों का "सम्मान के साथ सशक्तिकरण" "राष्ट्रनीति" है।

मुंबई के वाईबी चह्वाण ऑडिटोरियम में अल्पसंख्यकों के कौशल विकास पर आयोजित एक सेमिनार में श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार धर्म, समुदाय, क्षेत्र से ऊपर उठ कर गरीब, कमजोर तबकों को विकास कार्यों का केंद्र बिंदु बना कर मजबूती से काम कर रही है।

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार अन्य सभी गरीब, कमजोर वर्गों की तरह अल्पसंख्यकों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण और रोजगारपरक कौशल विकास को ध्यान में रख कर काम कर रही है।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय की योजनाएं- "सीखो और कमाओ", "नई मंजिल", "गरीब नवाज कौशल विकास योजना", "नई रौशनी"- अल्पसंख्यकों के कौशल विकास की दिशा में महत्वपूर्ण कदम साबित हुई हैं। तीन वर्षों में इन योजनाओं से 50 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार एवं रोजगार के अवसर मुहैय्या कराने में सफलता मिली है।

श्री नकवी ने कहा कि देश भर में 100 “गरीब नवाज कौशल विकास केंद्र” की स्थापना की जा रही है जहाँ अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं को रोजगारपरक कौशल विकास से सम्बंधित विभिन्न कोर्स करवाएं जा रहे हैं। श्री नकवी ने कहा कि इसके अलावा देश भर में लगाए जा रहे "हुनर हाट" के माध्यम से लाखों गरीब तबके के दस्तकारों, शिल्पकारों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैय्या कराये गए हैं।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यकों के शैक्षिक सशक्तिकरण के लिए बहु-क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम के तहत पिछड़े अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में 809 स्कूल बिल्डिंग, 10 डिग्री कॉलेज, 371 हॉस्टल, 1392 शौचालय एवं पेयजल ढांचे, 53 आईटीआई, 269 सद्भाव मंडप, 39 गुरुकुल प्रकार के आवासीय विद्यालयों का निर्माण किया गया है।

श्री नकवी ने कहा कि "प्रधानमंत्री मुद्रा योजना" के अंतर्गत 9 करोड़ 13 लाख लोगों को लगभग 4 लाख करोड़ रूपए का ऋण बाँट कर रोजगार और रोजगार के अवसर प्रदान किये गए हैं। इनमे बड़ी संख्या अल्पसंख्यकों की भी है।

श्री नकवी ने कहा कि आजादी के बाद से अँधेरे में रह रहे लगभग 15 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई गई है जिसका फायदा अल्पसंख्यक वर्ग के गरीब लोगों को भी हुआ है।

श्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती और आर्थिक सुधारों को आज पूरी दुनिया में पहचान मिल रही है। आर्थिक मोर्चे पर भारत को बड़ी कामयाबी मिली है। हाल ही में जारी वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में कारोबारी सुगमता के मामले में भारत की रैंकिंग 2017 में 100 हो गई है जो पिछले वर्ष 130 थी।