Speeches



मुंबई, 06 अक्टूबर 2017: आज मुंबई में हज 2017 के पूरा होने पर समीक्षा बैठक के दौरान मेरे सम्बोधन की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि 2017 का हज बहुत ही सफल और सुगम रहा है क्योंकि केंद्र सरकार ने सम्बंधित एजेंसियों के साथ समन्वय से हज की तैयारियां वक्त से काफी पहले ही पूरी कर ली थी।

मुंबई के हज हाउस में हज 2017 के पूरा होने पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए श्री नकवी ने कहा कि हमारी सारी तैयारियां हाजियों की सुरक्षा और सुविधा को केंद्र में रख कर ही की गई थी ताकि हज यात्रा को सरल-सुगम बनाया जा सके।

श्री नकवी ने कहा की 2017 के सफल हज के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया, एयर इंडिया एवं अन्य सम्बंधित एजेंसियां बधाई की पात्र हैं। श्री नकवी ने कहा कि हज 2017 के दौरान सऊदी अरब की सरकार ने महत्वपूर्ण सहयोग दिया। सऊदी अरब की सरकार का भी धन्यवाद्।

हज 2017 के लिए हज कमेटी ऑफ इंडिया के माध्यम से 24 जुलाई से 28 अगस्त के मध्य 454 फ्लाइट्स से कुल 1,24,940 हाजी हज यात्रा पर गए। जबकि लगभग 45,000 हज यात्री प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के माध्यम से हज पर गए। इस वर्ष सऊदी अरब ने भारत का हज कोटा बढ़ा कर 1,70,025 कर दिया था।

देश भर के 21 हज यात्रा केंद्रों से हज यात्री रवाना हुए थे। ये केंद्र हैं- दिल्ली, गोवा, गौहाटी, लखनऊ, मंगलौर, वाराणसी, श्रीनगर, कोलकाता, गया, रांची, भोपाल, बैंगलोर, मुंबई, नागपुर, अहमदाबाद, औरंगाबाद, चेन्नई, कोचीन, जयपुर, इंदौर, हैदराबाद हैं।

अहमदाबाद से 11073; औरंगाबाद से 2764; बंगलोर से 4734; भोपाल से 1758; चेन्नई से 3440; कोचीन से 11805; दिल्ली से 16627; गया से 6484; गोवा से 656; गौहाटी से 4472; हैदराबाद से 6347; इंदौर से 1794; जयपुर से 4767; कोलकाता से 10263; लखनऊ से 12314; मंगलौर से 768; मुंबई से 6297; नागपुर से 2181; रांची से 3133; श्रीनगर से 8103; वाराणसी से 5072 हज यात्री गए।

श्री नकवी ने कहा कि नई हज नीति 2018-22 तैयार करने के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा गठित एक चार सदस्यीय समिति अपनी सिफारिशें कल सौंप देगी। यह समिति पूर्व भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री अफजल अमानुल्लाह के नेतृत्व में गठित की गई थी।

समीक्षा बैठक में हज कमेटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन चौधरी महबूब अली कैसर, सऊदी अरब में भारत के राजदूत श्री अहमद जावेद, जेद्दा में भारत के कॉन्सुलेट जनरल मोहम्मद नूर रहमान शेख, हज कमेटी ऑफ इंडिया के सीईओ श्री एम. ऐ. खान, हज कमेटी के सदस्य एवं अल्पसंख्यक मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।