Speeches



मुम्बई, 21 जनवरी, 2017: मुम्बई में "ऑल इंडिया हज उमराह टूर ऑर्गनाइजर्स एसोसिएशन" के साथ मेरी बैठक की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि हज 2017 आवेदन की प्रक्रिया को ऑनलाइन करने का लोगों ने जबरदस्त स्वागत किया है।

मुम्बई में "ऑल इंडिया हज उमराह टूर ऑर्गनाइजर्स एसोसिएशन" की बैठक के दौरान श्री नकवी ने कहा कि भारत में हज के लिए आवेदन 2 जनवरी, 2017 से शुरू हो गए हैं। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 24 जनवरी, 2017 है। श्री नकवी ने कहा कि भारत में पहली बार हज आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल हो गई है। इसी महीने हज का मोबाइल ऐप भी लांच किया गया है।

अभी तक लगभग 3 लाख से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है जिसमे से 1 लाख से अधिक लोगों ने ऑनलाइन माध्यम से और "हज कमिटी ऑफ़ इंडिया मोबाइल ऐप" के द्वारा हज के लिए आवेदन किया है। ऑनलाइन आवेदन से लोगों को पारदर्शिता के साथ हज पर जाने का मौका मिलेगा। श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय हज 2017 के लिए हज यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैय्या कराने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए मंत्रालय ने कई कदम उठाये हैं। हज आवेदन प्रक्रिया को पूरी तरह से डिजिटल/ऑनलाइन करना इस दिशा में महत्वपूर्ण कदम है।

श्री नकवी ने कहा कि हज 2017 में भारत से 34,500 अधिक हज यात्री हज पर जायेंगे। यह निर्णय उनकी सऊदी अरब की यात्रा के दौरान लिया गया। श्री नकवी ने बताया कि वर्षों बाद भारत से हज पर जाने वाले यात्रियों की संख्या में इतनी बड़ी वृद्धि की गई है। उनकी यात्रा के दौरान सऊदी अरब की सरकार से हाजियों की सुविधाओं, निवास, यातायात, सुरक्षा आदि महत्वपूर्ण विषयों पर भी चर्चा हुई थी।

हज 2016 में देश भर में 21 केंद्रों से लगभग 99,903 हाजियों ने हज कमेटी ऑफ इंडिया के जरिये हज किया और लगभग 36 हजार हाजियों ने प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के जरिये हज की अदायगी की।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय आने वाले हज के बेहतर इंतेजाम की तैयारी में अभी से ही व्यापक पैमाने पर लग गया है। मक्का और मदीना में हज यात्रा के दौरान हाजियों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए हाजियों को ट्रेनिंग देने में हज कमेटी आफ इंडिया और राज्यों की हज कमेटियों को अभी से ट्रेनिंग कैम्पों की योजना बनानी चाहिए।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने हाजियों को ट्रेनिंग देने के लिए 10-15 मिनट की एक फिल्म तैयार की है जिसमें हाजियों के लिए तमाम बातों की जानकारी होगी। यह फिल्म हाजियों के लिए आयोजित किये जाने वाले ट्रेनिंग कैम्पों में भी दिखाई जाएगी।

श्री नकवी ने कहा कि हज कमिटी के माध्यम से जाने वाले हज यात्रियों की हज सब्सिडी के सम्बन्ध में कई तरह की मांग सामने आई हैं, साथ ही 2012 का सुप्रीम कोर्ट का निर्णय भी है। इस मामलें में संपूर्ण रूप से एक 6 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति अध्ययन कर रही है, वह अपनी रिपोर्ट जल्द देगी। श्री नकवी ने साफ किया कि नई व्यवस्था लागू होने पर भी किसी तरह का बड़ा बोझ हज यात्रियों पर नहीं पड़ेगा। श्री नकवी ने यह भी स्पष्ट किया कि हज 2017 में हज सब्सिडी ख़त्म नहीं होगी।

श्री नकवी ने कहा कि हज के दौरान हज कमेटी ऑफ इंडिया के साथ ही निजी टूर ऑपरेटर्स की भी अहम् भूमिका होती है। हमारा मंत्रालय निजी टूर ऑपरेटर्स को हर संभव सहायता, सलाह देने को तैयार है ताकि हज को और आसान बनाया जा सके। आने वाले दिनों में निजी टूर ऑपरेटरों की हज यात्रा में भूमिका और बढ़ाने पर सरकार विचार कर रही है।

श्री नकवी ने कहा कि हम निजी टूर ऑपरेटरों से पूरा सहयोग कर रहे हैं, लेकिन किसी भी तरह की गंभीर शिकायत और अनियमितता हमें स्वीकार नहीं है। श्री नकवी ने निजी टूर ऑपरेटरों से अपील करते हुए कहा कि उन्हें पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ हज यात्रा में अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। 
निजी टूर ऑपरेटरों को उनके द्वारा प्राप्त कराई जाने वाली सुविधाओं के सम्बन्ध में ईमानदारी से काम करना चाहिए ताकि हाजियों को भारत में ही नहीं बल्कि मक्का और मदीना में भी किसी तरह की परेशानी ना हो।

हमारे मंत्रालय की एक सेल इस विषय की मॉनिटरिंग कर रही है। हाजियों की सुविधा हमारी प्राथमिकता है और किसी भी अनियमितता के मामलें में उचित करवाई की जाएगी।

आज की बैठक में सरकार द्वारा पंजीकृत 6 एसोसिएशन्स के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। यह एसोसिएशन्स देश भर के लगभग 595 निजी टूर ऑपरेटर्स का प्रतिनिधित्व करती हैं।