Speeches



मुम्बई, 01 जनवरी 2017: आज मुम्बई में महाराष्ट्र स्टेट हज कमिटी के पुनर्निर्मित दफ्तर के उद्घाटन के दौरान मेरे संबोधन की प्रेस विज्ञप्ति:

 केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय एवं हज कमिटी ऑफ़ इंडिया ने अगले हज के लिए तैयारियां इस बार काफी हद तक समय से पहले शुरू कर दी है जिससे कि हाजियों को उनकी यात्रा में किसी भी तरह की कोई परेशानी ना हो।

मुम्बई के लोकमान्य तिलक मार्ग पर स्थित हाजी साबू सिद्दीक मुसाफिरखाना रोड पर महाराष्ट्र स्टेट हज कमिटी के पुनर्निर्मित दफ्तर के उद्घाटन के दौरान श्री नकवी ने कहा कि हाजियों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैय्या कराना सरकार और अन्य एजेंसियों की जिम्मेदारी है और हमारा मंत्रालय इस विषय पर युद्ध स्तर पर काम कर रहा है।

श्री नकवी ने कहा कि हर राज्य में हज हाउस बनाये जाने चाहिए, जिसके लिए हमारा मंत्रालय हर संभव मदद करने को तैयार है। राज्य सरकारों को इस दिशा में हमने पत्र भी लिखा है।

श्री नकवी ने कहा कि केंद्र सरकार का प्रयास है कि पिछली बार की तरह इस बार का हज भी सरल-सुगम रहे। श्री नकवी ने कहा कि पहली बार अल्पसंख्यक मंत्रालय ने हज से पहले की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अधिकारियों का एक दल पिछले अगस्त में मक्का भेजा था। इस बार भी उच्च अधिकारियों का दल हज व्यवस्था की निगरानी और समन्यव हेतु सऊदी अरब जायेगा।

श्री नकवी ने कहा कि हज को बेहतर से बेहतर बनाने और हाजियों को ज्यादा से ज्यादा सहूलियत मुहैय्या कराने के सन्दर्भ में उन्होंने दिसंबर में भारत में सऊदी अरब के राजदूत डा. साउद मुहम्मद अलसाती से भेंट की थी। इस दौरान उन्होंने डॉ अलसाती से अगली हज यात्रा से सम्बंधित विभिन्न मुद्दों पर सार्थक और व्यापक चर्चा की। श्री नकवी ने कहा कि पिछली हज यात्रा में सऊदी अरब सरकार ने हज को सुचारू रूप से संपन्न कराने में बड़ा ही महत्वपूर्ण सहयोग किया था।

इसके अलावा नई दिल्ली में हज को लेकर समीक्षा बैठक दो माह पूर्व की जा चुकी है जिसमे हज के विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा हुई। पिछले हज के दौरान के अनुभवों की समीक्षा कर अगले हज को सुविधाजनक बनाने के लिए तैयारियों पर चर्चा की गई जिसमे हाजियों के लिए बेहतर आवास और बेहतर यातायात शामिल हैं।

श्री नकवी ने कहा कि हमने अगले हज के लिए देश भर से आये विभिन्न सुझावों के आधार पर सऊदी अरब सरकार एवं हज से जुडी भारत की एजेंसियों से बात-चित शुरू कर दी है। श्री नकवी ने कहा कि नागरिक एवं उड्डयन मंत्रालय के अधिकारियों से भी कहा गया है कि हज यात्रियों को आधुनिक सुविधा वाले जहाज उपलब्ध कराए जाने चाहिए।

हज 2017 की घोषणा हो गई है और 2 जनवरी से इसके लिए आवेदन आरम्भ हो जायेंगे। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 24 जनवरी है। पिछले वर्ष हज में देश भर में 21 केंद्रों से लगभग 99,903 हाजियों ने हज कमेटी ऑफ इंडिया के जरिये हज किया और लगभग 36 हजार हाजियों ने प्राइवेट टूर ऑपरेटरों के जरिये हज की अदायगी की थी।

महाराष्ट्र स्टेट हज कमिटी के पुनर्निर्मित दफ्तर के उद्घाटन के अवसर पर महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक कल्याण कैबिनेट मंत्री श्री विनोद तावड़े, मुम्बई दक्षिण लोकसभा सांसद श्री अरविन्द सावंत, महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री श्री दिलीप काम्बले, हज कमिटी ऑफ़ इंडिया के सीईओ अताउर रहमान, महाराष्ट्र स्टेट हज कमिटी के चेयरमैन अल्हाज इब्राहिम गुलाम नबी शेख भी मौजूद थे।