Speeches



मुरादाबाद, 18 दिसंबर, 2016:मुरादाबाद (उत्तर प्रदेश) में "रोजगार मेला" के दौरान मेरे संबोधन के मुख्य अंश:

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहाँ कहा कि भ्रष्टाचार-काले धन के खिलाफ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की लड़ाई देश के गरीबों, कमजोर तबकों और नौजवानों के सुनहरे भविष्य की गारंटी है। इस लड़ाई को कमजोर करने वाली ताकतों को परास्त करना हम सब की जिम्मेदारी है।

मुरादाबाद के हरथला के गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक में केंद्रीय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC), नई दिल्ली द्वारा आयोजित दो-दिवसीय रोजगार मेले के अंतिम दिन श्री नकवी ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हर हाथ को रोजगार के संकल्प के साथ एनडीए सरकार काम कर रही है। केंद्र की मोदी सरकार आर्थिक सुधारों की सरकार है जिसका लक्ष्य समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास की रौशनी पहुंचा कर उसे विकास का भागीदार-हिस्सेदार बनाना है।

श्री नकवी ने कहा की 15 जुलाई, 2015 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा कौशल मिशन की शुरूआत की गई, जिसने पिछले एक साल के दौरान श्री राजीव प्रताप रूडी, कौशल विकास और उद्यमशीलता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के मार्गदर्शन में जबरदस्त कामयाबी हासिल की है।

श्री नकवी ने कहा कि निजी क्षेत्र में केंद्र सरकार के कार्यक्रमों और एनएसडीसी से जुड़े प्रशिक्षण भागीदारों के माध्यम से 1.04 करोड़ भारतीयों को प्रशिक्षित किया गया। श्री नकवी ने कहा कि युवाओं को "स्किल इंडिया", "स्टार्ट अप इंडिया", "स्टैंड अप इंडिया" जैसी रोजगारपरक योजनाओं का अधिकतम लाभ उठाना चाहिए। इसके अलावा अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा भी अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं के लिए "सीखो और कमाओ", "नई मंज़िल" जैसी योजनाएं लाई गई हैं।

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार के प्रयासों के कारण ही सरकारी और निजी क्षेत्रों की नौकरियों में अल्पसंख्यकों की भागीदारी बढ़ी है। मार्च 2016 तक केंद्र सरकार के मंत्रालयों और विभागों में अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों की संख्या 9.2 लाख पहुँच गई।

श्री नकवी ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा देश की आर्थिक तरक्की के लिए उठाये जा रहे कदम कुछ लोगों को हजम नहीं हो रहे हैं। कांग्रेस और उसके कुछ साथी देश की तरक्की की राह में रोड़ा अटकाने का काम रहे हैं। भ्रष्टाचार-काले धन के खिलाफ नोटबदली जैसे ऐतिहासिक फैसले का विरोध कर रहे हैं।

संसद में हंगामा कर देश के गरीबों, कमजोर तबकों, अल्पसंख्यकों और युवाओं का विकास बाधित कर रहे हैं। लेकिन इन राजनीतिक दलों को समझ लेना चाहिए कि देश की जनता मोदी सरकार के साथ है, देश के युवा हमारे साथ हैं। 
 मुरादाबाद में रोजगार मेला का आयोजन उद्योग जगत के सहयोग से किया गया।

रोजगार मेला का आयोजन 19 नवंबर, 2016 से 20 दिसंबर, 2016 तक उत्तर प्रदेश के 19 विभिन्न कमिश्नरियों (वाराणसी, नोएडा और गाजियाबाद को छोड़कर 17 डिवीजन शामिल) में भारत सरकार के विभिन्न कौशल विकास योजनाओं तथा अन्य संबंधित योजनाओं के अंतर्गत प्रशिक्षित उम्मीदवारों हेतु किया जा रहा है।