Speeches



नई दिल्ली, 24 अगस्त 2016: अल्पसंख्यक मंत्रालय की अंग्रेजी और हिंदी भाषाओँ में नई बेहतर वेबसाइट के शुभारम्भ की प्रेस विज्ञप्ति:

केंद्रीय अल्पसंख्यक मामले (स्वतंत्र प्रभार) एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री श्री मुख़्तार अब्बास नक़वी ने आज यहाँ अल्पसंख्यक मंत्रालय की हिंदी भाषा की सरल और तकनीकी रूप से आधुनिक नई वेबसाइट और अंग्रेजी भाषा की अपडेटेड वेबसाइट का शुभारम्भ किया।

नई वेबसाइट http://www.minorityaffairs.gov.in पर उपलब्ध है। नई वेबसाइट का संचालन आसान है और यह आम जन के लिए भी सरल होगी। यह वेबसाइट आईपैड्स तथा मोबाइल जैसे अन्य उपकरणों पर भी आसानी से काम करती है।

इस अवसर पर श्री नक़वी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय सभी उपलब्ध माध्यमों के द्वारा जरुरत मंदों तक पहुँचने को प्रतिबद्ध है। इसमें आधुनिक तकनीक, सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों का प्रयोग कर अधिक से अधिक लोगों से सीधे जुड़ना शामिल है ताकि विकास की रौशनी समाज के अंतिम व्यक्ति तक सीधे पारदर्शी रूप से पहुँच सके।

श्री नक़वी ने कहा कि मंत्रालय को इस वेबसाइट में निरंतर सुधार के प्रयास करने चाहिए और आम लोगों से प्राप्त प्रतिक्रियाओं तथा सुझावों के आधार पर समय-समय पर नई तकनीक जोड़नी चाहिए।

श्री नक़वी ने कहा कि इस वेबसाइट में अल्पसंख्यकों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण की सभी कल्याणकारी योजनाओं की विस्तृत जानकारी उपलब्ध है। उन्होंने भरोसा जताया कि मंत्रालय की नई वेबसाइट लोगों के लिए लाभदायक होगी और विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं तक आसानी से पहुँच कर जरूरतमंद उसका लाभ ले सकते हैं।

फोटो गैलरी, विडियो गैलरी, प्रेस विज्ञप्ति आदि इस वेबसाइट की अन्य विशेषताएं हैं। साथ ही नई वेबसाइट सोशल मीडिया साइट्स जैसे ट्विटर, फेसबुक और यूट्यूब के साथ जुडी है। वेबसाइट में फीडबैक तंत्र उपलब्ध है जिसके माध्यम से आम लोग मंत्रालय की योजनाओं/कार्यक्रमों के बारे में सीधे अपने सुझाव दे सकते हैं। अल्पसंख्यक मंत्रालय की वेबसाइट अन्य प्रमुख वेबसाइट जैसे- MyGov, PM-India, National Portal, GoI Web Directory, PMNRF, PG Portal, National Scholarship Portal आदि के साथ भी जुडी है।

श्री नक़वी ने कहा कि लोगों के सुझाव-शिकायत और उसके समाधान के लिए अल्पसंख्यक मंत्रालय में "समाधान सेल" शुरू किया गया है जिसमे लोगों के मंत्रालय से सम्बंधित मुद्दों के जल्द से जल्द समाधान की व्यवस्था की गई है।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय छात्रवृत्तियों के लिए एक मोबाइल ऐप तैयार करने की योजना भी बना रहा है जिसे जल्द ही शुरू किया जाएगा ताकि छात्र अपनी छात्रवृति का प्रार्थनापत्र मोबाइल ऐप पर ही भेज सकें।