नई दिल्ली, 16 अप्रैल, 2020: 24 अप्रैल से शुरू हो रहे रमजान के पवित्र महीने में धार्मिक, सार्वजनिक, व्यक्तिगत स्थलों पर लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग का प्रभावी ढंग से पालन करने, लोगों को घरों में ही इबादत आदि के लिए जागरूक करने के लिए आज देश के 30 से ज्यादा राज्य वक्फ बोर्डों के चेयरमैन एवं वरिष्ठ अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये बात की। सभी राज्य वक्फ बोर्डों ने रमजान के पवित्र महीने में मस्जिदों, ईदगाहों अन्य धार्मिक-सामाजिक स्थलों के बजाय लोगों को अपने घरों में ही इबादत, इफ्तार आदि हेतु जागरूक करने एवं लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग का प्रभावी तरीके से पालन हो इसके लिए एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता पर सहमति जताई। हमें स्वास्थ्य कर्मियों, सुरक्षा बलों, प्रशासनिक अधिकारियों, सफाई कर्मचारियों का सहयोग और सम्मान करना चाहिए, वे अपनी जान हथेली में लेकर हमारे स्वास्थ्य-सुरक्षा के लिए काम कर रहे हैं। क्वारंटाइन, आइसोलेशन सेंटरों को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों को भी हमें ध्वस्त करना चाहिए एवं लोगों में जागरूकता पैदा करनी चाहिए, हमें बताना चाहिए कि ऐसे केंद्र; लोगों को, उनके परिवार और समाज को किसी भी तरह के संक्रमण से सुरक्षित करने के लिए हैं। सभी राज्य वक्फ बोर्डों, धार्मिक-सामाजिक संगठनों से कहा कि फेक न्यूज़ एवं भड़काऊ बातों और अफवाह फ़ैलाने वाले साजिश-षड़यंत्र से हमें होशियार रहना चाहिए, प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सभी राज्यों के साथ मिल कर देश के सभी नागरिकों की सेहत-सलामती के लिए मजबूती से काम हो रहा है। इस तरह की साजिश-षड़यंत्र, कोरोना के खिलाफ देश की सामूहिक जंग को कमजोर करने की कोशिश है। हम सभी को सजग और सचेत हो कर एकजुटता के साथ ऐसी साजिशों, दुष्प्रचार, अफवाहों को परास्त कर कोरोना के खिलाफ इस जंग में विजय हासिल करनी है। कोरोना के कहर के चलते, देश के सभी क्षेत्रों के धर्मगुरुओं, धार्मिक-सामाजिक संगठनों ने रमजान के पवित्र महीने में इबादत, इफ्तार, तराबी एवं अन्य धार्मिक कर्त्तव्य, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने घरों में ही अदा करने की अपील की है। #IndiaFightsCorona