रामपुर (यूपी), 5 जनवरी, 2020: आज @BJP4India द्वारा नागरिकता विधेयक पर चलाये जा रहे देशव्यापी जन जागरण अभियान के तहत रामपुर के धमौरा में घर-घर जा कर लोगों को विधेयक की जानकारी दी और इस मुद्दे पर कांग्रेस सहित कुछ अन्य दलों द्वारा चलाये जा रहे दुष्प्रचार से सतर्क रहने की अपील की। नागरिकता संशोधन कानून पर "भय-भ्रम का भूत" खड़ा कर "कंगाल कांग्रेस", अपने "दिवालिया राजनैतिक बैंक" के लिए "वोटों का अनैतिक जुगाड़" कर रही है। लोगों को "कन्विंस" नहीं कर पा रही है तो "कन्फ्यूज" करने की रणनीति अपना कर अव्यवस्था का माहौल पैदा कर रही है। भारत में मुसलमान "मज़बूरी" में नहीं बल्कि "मजबूती" से रह रहा है। सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट “किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए है।" लेकिन कांग्रेस एवं उसके सहयोगी सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट को लेकर समाज के एक वर्ग में “भय और भ्रम का भूत” खड़ा कर रहे हैं, "झूठ के झाड़ से सच के पहाड़" को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन कांग्रेस और उसके साथी अपनी इस "सियासी साजिश" में नाकाम होंगे। नागरिकता बिल या किसी भी अन्य कानून से भारत के किसी भी मुसलमान की नागरिकता और अधिकारों पर कोई सवालिया निशान या ख़तरा नहीं है। मुस्लिम समाज के नागरिक, आर्थिक, सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार पूरी तरह "महफूज और मजबूत" हैं।