जेद्दाह (सऊदी अरब)/नई दिल्ली, 01 दिसंबर 2019: आज मक्का (जेद्दाह) में हिज एक्सेलेंसी डॉ. मुहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन, हज और उमराह मंत्री, सऊदी अरब, के साथ भारत-सऊदी अरब के बीच हज 2020 के सम्बन्ध में द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किये। भारत पूरी दुनिया का ऐसा पहला देश बन गया है जहाँ हज 2020 सौ प्रतिशत डिजिटल प्रक्रिया से हो रहा है। ऑनलाइन आवेदन, ई-वीजा, हज पोर्टल, हज मोबाइल ऐप, "ई-मसीहा" स्वास्थ्य सुविधा, मक्का-मदीना में ठहरने की बिल्डिंग/ट्रांसपोर्टेशन की जानकारी भारत में ही देने वाली "ई-लगेज टैगिंग" व्यवस्था के जरिये भारत से जाने वाले हज यात्रियों को जोड़ा गया है। हज ग्रुप ऑर्गनाइजर्स को भी सौ प्रतिशत डिजिटल कर पोर्टल से जोड़ दिया गया है, जिसके चलते पारदर्शिता सुनिश्चित हुई है और हज ग्रुप ऑर्गनाइजर्स के जरिये जाने वाले हज यात्रियों को आसानी हुई है। पिछले लगभग 4 वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान के तहत ही अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा हज सहित सभी अन्य योजनाओं को भी शत-प्रतिशत डिजिटल/ऑनलाइन करने की दिशा में प्रभावी एवं सफल कदम उठाये गए हैं। भारत सरकार, जेद्दाह में भारतीय कांसुलेट, सऊदी अरब की सरकार एवं अन्य सम्बंधित एजेंसियां हज 2020 को सफल, सुगम बनाने के लिए सहयोग कर रहे हैं। 2020 में 2 लाख भारतीय मुसलमान बिना किसी हज सब्सिडी के हज यात्रा पर जायेंगे। हज 2019 को कामयाब बनाने में महत्वपूर्ण मार्गदर्शन देने के लिए दो पवित्र मस्जिदों के सरबराह सऊदी अरब के हिज मेजेस्टी किंग सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सऊद एवं सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस हिज मेजेस्टी मोहम्मद बिन सलमान को भारत सरकार की तरफ से धन्यवाद दिया।