नई दिल्ली, 14 अक्टूबर, 2019: आज नई दिल्ली में आयोजित एनएमडीएफसी के रजत जयंती समारोह और राज्य चैनेलाइजिंग एजेंसियों के वार्षिक सम्मेलन का उद्घाटन किया। अल्पसंख्यक मंत्रालय के सचिव श्री शैलेश एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत, दुनिया में "समावेशी विकास-सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण" का "रोल मॉडल" बन गया है। भारत अल्पसंख्यकों के लिए स्वर्ग है, जबकि पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के लिए नर्क साबित हुआ है। तालीम के बिना तरक्की नहीं हो सकती, शिक्षा के बिना सशक्तिकरण संभव नहीं है। देश के हर जरूरतमंद तक बेहतर शिक्षा, रोजगारपरक कौशल विकास, आधारभूत सुविधाएँ पहुंचाने के लिए नरेंद्र मोदी जी की सरकार युद्धस्तर पर काम कर रही है। एनएमडीएफसी ने पिछले 5 वर्षों में लगभग 3000 करोड़ रूपए 8 लाख 30 हजार से ज्यादा लाभार्थियों को विभिन्न रोजगारपरक गतिविधियों, स्टैंड अप, स्टार्ट अप आदि के लिए किफायती दरों पर ऋण मुहैया कराये हैं। सम्मेलन में एनएमडीएफसी और जम्मू-कश्मीर-लद्दाख, उत्तर प्रदेश, त्रिपुरा, केरल और अन्य राज्य चैनेलाइजिंग एजेंसियों के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इस आयोजन के दौरान, गोवा में एनएमडीएफसी कार्यक्रम के कार्यान्वयन के लिए एक और राज्य चैनेलाइजिंग एजेंसी को जोड़ा गया। इस अवसर पर शहीद भगत सिंह सेवा दल, नई दिल्ली को एम्बुलेंस की चाबी सौंपी। संगठन को यह एम्बुलेंस सीएसआर कार्यक्रम के तहत प्रदान की गई। एम्बुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।