रामपुर, 08 अक्टूबर, 2019: आज चमरौआ, रामपुर के नोगांवा में "जन चौपाल" कार्यक्रम में लोगों से संपर्क-संवाद कर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी की सरकार द्वारा हर जरूरतमंद के "समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास" के लिए चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं पर चर्चा की। राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर "भ्रम और भय" का माहौल नहीं होना चाहिए और किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता पर कोई खतरा नहीं है। कुछ निहित स्वार्थी तत्त्व एनआरसी को लेकर "भ्रम और भय" का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं। इस तरह की साजिशों से हमें होशियार रहना चाहिए। देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा हर हाल में होनी चाहिए और अवैध घुसपैठियों की पहचान की जानी चाहिए। कोई भी देश अवैध घुसपैठियों के जनसँख्या विस्फोट को नजरअंदाज नहीं कर सकता। एनआरसी पर "सांप्रदायिक सियासत" ठीक नहीं है, यह शुद्ध रूप से राष्ट्रीय हितों से जुडी प्रक्रिया है। निहित स्वार्थों से ऊपर उठकर राष्ट्रीय दृष्टिकोण से ये काम किया जा रहा है। इसका उद्देश्य अनैतिक और अवैधानिक तौर पर देश में आए लोगों की पहचान करना है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार "समावेशी विकास", सशक्तिकरण एवं राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति ईमानदारी से काम कर रही है। "समावेशी और सर्वस्पर्शी विकास", "बिना भेदभाव के सशक्तिकरण" मोदी सरकार का संकल्प है।