वन्दलुर, चेन्नई, 05 अक्टूबर, 2019: आज चेन्नई में विभिन्न बैंकों के द्वारा आयोजित "ग्राहक मेला- कस्टमर आउटरीच इनिशिएटिव" कार्यक्रम में शामिल हुआ। इस अवसर पर ऋण पत्र भी लाभार्थियों को वितरित किये। विभिन्न राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा बड़ी संख्या में महिलाओं सहित जरूरतमंदों को आवासीय ऋण, वाहन ऋण, एमएसएमई के तहत मुद्रा ऋण, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया के तहत ऋण, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ऋण दिए गए। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार "सम्मान के साथ सशक्तिकरण" की "नीति" और "सर्वस्पर्शी विकास" की "नीयत" के साथ काम कर रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में "जमीन से जुडी और ज़मीर पर खड़ी" सरकार का "समावेशी-सर्वस्पर्शी विकास" ही "राष्ट्रनीति" है। हमारी सरकार ने पिछले 5 वर्षों में अभूतपूर्व आर्थिक सुधार के जो कदम उठाये हैं उन्ही का नतीजा है कि आज भारत दुनिया का सबसे आकर्षक एवं सुरक्षित "निवेश एवं मैन्युफैक्चरिंग हब" बन गया है। देश की "सुरक्षा, अर्थव्यवस्था और समृद्धि", "संवेदनशील, सशक्त और सुरक्षित" हाथों में हैं। भारत की अर्थव्यवस्था की बुनियाद “जमीन की जरुरत और जमीर की ताकत से तैयार की गई है, तमाम वैश्विक चुनौतियों के बावजूद देश में महंगाई दर बढ़ने नहीं दी गई। किसी भी चीज की किल्लत-तंगी नहीं होने दी गई है। कॉर्पोरेट टैक्स जो पहले 30 प्रतिशत था उसे घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया गया है, इस क्रांतिकारी फैसले से "मेक इन इंडिया" और स्टार्टअप को भी बल मिलेगा। भारत ही नहीं, दुनिया भर के निवेशकों ने इसका स्वागत किया है। ऐतिहासिक आर्थिक सुधार है। इससे निवेश में बढ़ोतरी होगी, रोजगार के अवसरों में तेजी आएगी। बैंकरप्सी कानून ने बैंकिंग क्षेत्र में सुधार और बैंकिंग क्षेत्र को सशक्त बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों का विलय करके 4 बैंक बनाना मोदी सरकार का बैंकिंग सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।